जिला प्रशासन एवं पुलिस की संयुक्त बैठक

हरिद्वार: जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को मेला नियंत्रण भवन(सी0सी0आर0) में आगामी कांवड़ को सकुशल सम्पन्न कराये जाने के दृष्टिगत श्रीगंगा सभा, सिडकुल एसोसिएशन एवं व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों के साथ जिला प्रशासन एवं पुलिस की संयुक्त बैठक आयोजित हुई।
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह ने भी प्रतिभाग किया।
बैठक में श्री विकास तिवारी महामंत्री धर्मशाला ने बताया कि हरिद्वार में लगभग 550 धर्मशालायें हैं। सभी में सीसीटीवी लगे हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि कावंड़ का स्वरूप निरन्तर बदलता जा रहा है। कुछ कांवड़िये अचानक ही छोटे-छोटे रास्तों तथा गलियों से आना प्रारम्भ कर देते हैं, जिससे अव्यवस्था फैेलती है। इसलिये ललतारों आदि अन्दरूनी क्षेत्रों में पूर्व में जिन्होंने कांवड़ आदि में ड्यूटी की है, ऐसे पुलिस कार्मिकों की तैनाती की जाये, तो उचित होगा। इस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे कौन से रास्ते हैं, उनका एक नक्शा तैयार कर लिया जाये तथा उसी अनुसार व्यवस्था बनाई जाये। श्री विकास तिवारी ने यह भी सुझाव दिया कि कांवड़ के दौरान पानी की आपूर्ति के समय में भी वृद्धि की जाये ताकि श्रद्धालुओं को पानी की दिक्कत न हो। इस सम्बन्ध में अधिकारियों को सुझाव पर कार्रवाई करने के निर्देश दिये गये। श्रीगंगा सभा के अध्यक्ष श्री नितिन गौतम ने कांवड़ मेले के दौरान हरकीपैड़ी क्षेत्र में आने वाली विभिन्न समस्याओं-सुरक्षा आदि की ओर ध्यान आकृष्ट किया। जिस पर बताया गया कि सुझावों के अनुसार व्यवस्था बनाई जायेगी।
श्री हरेन्द्र गर्ग चेयरमैन सिडकुल एसोसिएशन ने बैठक में सिडकुल क्षेत्र में वाहनों के माध्यम से सामान के आवागमन में कोई दिक्कत न हो, की व्यवस्था के सम्बन्ध में अपना पक्ष रखां। इस पर अधिकारियों ने बताया कि सिडकुल क्षेत्र के वाहनों के आवागमन के लिये शाम का समय रखा गया है। इसके अतिरिक्त स्पेशल पास की व्यवस्था भी कावंड़ के दौरान की जायेगी। स्वामी ललितानन्द जी ने बताया कि सप्तऋषि के आसपास कुछ बिजली के खम्भे खड़े हैं, जो आने-जाने में दिक्कत पैदा करते हैं तथा भारत माता मन्दिर व सप्तऋषि के आसपास बिना पार्किंग के जो वाहन खड़े रहते हैं, उन्हें हटाने का अनुरोध किया।
श्री सुनील सेठी जिला अध्यक्ष व्यापार मण्डल ने व्यापारियों को आने-जाने में असुविधा न हो, भीमगौड़ा, सर्वानन्द घाट के पास बने अण्डरपास की व्यवस्था ठीक करने, बिजली-पानी की व्यवस्था चाक-चौबन्द रखने के सम्बन्ध में सुझाव दिये। श्री किशन बजाज ने कावंड़ मेले की दृष्टि से बैठक में बताया कि सुभाष घाट आदि काफी संवेदनशील हैं। उन्होंने हाथी वाले पुल पर रेलिंग लगाने, कुशावर्त घाट से आवारा पशुओं को पकड़ने का सुझाव दिया। इस पर पुलिस के अधिकारियों ने सप्ताह के आखिरी दिनांें आदि में जो व्यवस्था की जाती है, के सम्बन्ध में जानकारी दी।
बैठक में श्री कैलाश ने विगत कांवड़ मेले का हवाला देते हुये बताया कि गत वर्ष पार्किंग में मोटर साइकिल में आग लगने की घटना हुई थी। इस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पार्किंग में आग बुझाने के उपकरणों की जरूरत के अनुसार व्यवस्था की जायेगी। इसके अतिरिक्त उन्होंन कावंड़ मेले के दौरान आबादी वाले क्षेत्रों में निर्माण की गतिविधियों पर रोक लगाने की बात कहीं। इस पर जिलाधिकारी ने बताया कि इस तरह की गतिविधियों पर रोक रहेगी। शहर व्यापार मण्डल अध्यक्ष श्री राजीव पाराशर ने सुझाव दिया कि कांवड़ मेले के दौरान स्कूल बन्द रहें तथा दो पहिये वाहनों को बन्द रखा जाये तथा बुजुर्गों को आने-जाने में कोई दिक्कत न हो, पास जारी करने, व्यापारियों को उनके कार्य स्थल के आसपास ही पार्किंग की सुविधा देने आदि के सम्बन्ध में अपने सुझाव प्रस्तुत किये। इस पर अधिकारियों ने बताया कि व्यापारी बन्धुओं को जहां तक सम्भव हो आस-पास ही पार्किंग की व्यवस्था की जायेगी।

About The Singori Times

View all posts by The Singori Times →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *