उत्तराखंड में होगी जैविक खेती की कार्यशाला

सितंबर माह में होगी जैविक खेती से सम्बन्धित उत्तराखंड में की जाएगी वर्कशॉप: कृषि मंत्री

देहरादून, 16 अगस्त। प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री गणेश जोशी से उनके शासकीय कार्यालय में जर्मन सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की। इस मुलाकात में जर्मनी के सांसद जुगन हाइट, स्पीकर फ्रेंज ऐवर मेऊरर, डायरेक्टर डॉ. ऐड्रिन हैक, कोर्नड ऐड्यूनर आदि लोगों को कृषि मंत्री ने पहाड़ी टोपी और जैविक उत्पाद भेंट कर उनका स्वागत किया।
इस मुलाकात के दौरान प्रतिनिधिमंडल और मंत्री गणेश जोशी के माध्यम भारत जर्मनी के औद्योगिक संबंध को बढ़ाने के लिए निवेश लाने के लिए कैसे साथ-साथ काम किया जाए। इसके अतिरिक्त ऑर्गेनिक फार्मिंग, फूड प्रोसेसिंग एवं अन्य उद्योगों में सहयोग तथा उत्तराखंड को कृषि के क्षेत्र में कैसे विश्वास स्तरीय पहचान दिलाई जाए सहित कई अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। मंत्री गणेश जोशी ने कहा जर्मनी से आए डेलीगेट्स के साथ आगमी दिनों में उत्तराखंड में आयोजित होने वाले इन्वेस्टर्स समिट को लेकर चर्चा की गई। इसके अतिरिक्त (श्री अन्न) मिलेट्स और मोटे अनाज को विश्व स्तरीय पहचान दिलाने के लेकर भी चर्चा की गई। मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि उत्तराखंड के जैविक उत्पादों को विश्व स्तर तक ले जाने के लक्ष्य को लेकर राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा सितंबर माह में जर्मनी के डेलीगेट्स के साथ एक कार्यशाला भी की जाएगी। जिसमे कृषि से संबंधित विषयों पर चर्चा की जाएगी। मंत्री ने कहा हमारी कोशिश है कि उत्तराखंड के उत्पाद को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिले इसके लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है। मंत्री ने कहा निश्चित ही यह कदम उत्तराखंड को अग्रणी राज्य में शामिल करने की दिशा में सकारात्मक कदम होगा।
इस अवसर पर कृषि सचिव दीपेंद्र चौधरी, अपर निदेशक कैसी पाठक, जैविक बोर्ड के एमडी विनय कुमार, उपनल के एमडी बिग्रेडियर जेएनएस बिष्ट, भाजयुमो की राष्टीय उपाध्यक्ष नेहा जोशी उपस्थित रहे।

About The Singori Times

View all posts by The Singori Times →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *