फिर औंधे मुंह गिरे सूबे के षडयंत्रकारी, सच्चाई की ताकत के साथ अजेय हैं सीएम त्रिवेंद्र

सिंगोरी न्यूजः प्रदेश में भ्रष्टाचार और दलाली की कुप्रथा पर नकेल डालने वाले मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की सच्चाई और दृढ़ता के आगे षडयंत्रकारी एक बार फिर औंधे मुहं गिर गए हैं। हर बार की तरह सूबे में अस्थिरता फैलाने का दांव इस बार भी फेल ही रहा। सुप्रीम कोर्ट की रोक से प्रदेश का आम जन भी राहत महसूस कर रहा है। इस पर सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि तमाम भ्रष्टाचारी और माफिया लोग उन्हें को घेरना चाहते हैं। लेकिन वे अपनी गलतफहमी दूर कर लें। इस राज्य में षडयंत्रकारियों उन्हें कतई भी जगह नहीं दी जाएगी। कहा कि कार्यकाल के बीते साढ़े तीन साल से उनके खिलाफ तमाम तरह के षड्यंत्र हुए हैं, लेकिन आखिर सत्य की जीत हुई है। 
बता दें कि पिछले दिनों में हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। जिसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई और वहां उस पर रोक लग गई। उसके बाद सीएम त्रिवेंद्र ने अपनी बात मीडिया के समक्ष रखी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके और उनकी सरकार के खिलाफ बीते साढ़े तीन सालों में तमाम तरह के षड्यंत्र हुए। लेकिन भ्रष्टचारियों के मंसूबे सफल नहीं हुए।
उन्होंने कहा, हम जिस नीति पर चल रहे हैं, उस पर हम पूरी तरह से अडिग हैं। करप्शन के खिलाफ पहले दिन से जो संकल्प व्यक्त लिया था, उस पर जिस दिन तक कुर्सी पर हैं, उसी ऊर्जा और उसी भाव के साथ डटे रहेंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि वे अपनी गलतफहमी दूर कर लें।
तमाम षडयंत्रांे के बीच भी सीएम त्रिवेंद्र पूरे आत्मविश्वास से लवरेज हैं। भ्रष्टाचारियों के खिलाफ उनके तल्ख तेवरों में कहीं लेस मात्र भी कमी नहीं आई। वह और मुखर होकर अब षडयंत्रकारियों की मुखालफत कर रहे हैं। कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर भी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शानदार तंज कसा। उन्होंने कहा, मैं हरीश रावत जी से पूछना चाहता हूं जब आपका स्टिंग हुआ था, तब ये ब्लैक मेलर था, स्टिंगबाज था। आज क्या उससे दोस्ती हो गई है। उसका भी रहस्य खोल दें, उस रहस्य को दबाए मत रखिए।
इसी बात पर प्रदेश के सबसे जानकार और स्पष्टवादी विधायकों में सुमार भाजपा के मुख्य प्रवक्ता मुन्ना सिंह चैहान ने कहा, सत्ता के गलियारों में पावर ब्रोकर्स की भरमार रहती थी। त्रिवेंद्र सिंह सरकार ने उसका पूरी तरह से सफाया कर दिया। उसी का नतीजा है कि तमाम सारे लोगों ने हताशा, निराशा और कुंठा में उनके विरुद्ध तमाम तरह के षड्यंत्रों को अंजाम देने का प्रयास किया।

About The Singori Times

View all posts by The Singori Times →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *